Bageshwar Dham News: विधायक ने कहा कि कथा के तैयारियां हो चुकी थीं. इसका उद्देश्य विंध्य की धरती में आध्यात्म को बढ़ावा देना था, लेकिन लोगों ने धीरेंद्र शास्त्री को गलत जानकारी देकर कथा स्थगित करा दी.

Dhirendra Krishna Shastri Cancels Katha: मध्य प्रदेश की मैहर सीट से विधायक नारायण त्रिपाठी (Narayan Tripathi) को बीजेपी (BJP) से बगावत महंगी पड़ रही है. सबसे पहले उन्हें बागेश्वरधाम (Bageshwar Dham) के पीठाधीश्वर पंडित धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री (Dhirendra Krishna Shastri) की कथा से हाथ धोना पड़ गया. मैहर में 3 से 7 मई तक आयोजित होने वाली पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री की कथा स्थगित कर दी गई है. विधायक नारायण त्रिपाठी ने कथा नहीं होने के पीछे राजनीतिक कारण बताया है.

यहां बता दें कि मध्य प्रदेश में मैहर सीट से बीजेपी के विधायक नारायण त्रिपाठी ने बगावत करते हुए नई विंध्य पार्टी के गठन की घोषणा की. उन्होंने सोमवार को इस एलान के साथ कहा कि ये विंध्य प्रदेश के लोगों की पार्टी है. त्रिपाठी ने विंध्य इलाके की सभी 30 सीटों पर अपनी पार्टी के उम्मीदवार उतारने की घोषणा की है. मैहर में आयोजित विंध्य प्रीमियर लीग सीजन-2 के समापन समारोह के दौरान उन्होंने कहा कि उनकी विंध्य जनता पार्टी (VJP) का रजिस्ट्रेशन हो गया है. 15 अप्रैल तक पंजीयन आ जाएगा. उन्होंने विंध्य की जनता से ‘विंध्य पुनरोदय’ के संघर्ष में सहयोग-समर्थन का अनुरोध किया और नेता जी सुभाष चंद्र बोस के नारे ‘तुम मुझे खून दो मैं तुम्हें आजादी दूंगा’ की तर्ज पर कहा कि ‘तुम मुझे 30 दो, मैं तुम्हें 2024 में विंध्य दूंगा.’

‘धीरेन्द्र शास्त्री की कथा को राजनीति से जोड़ा गया’
बस इसी के बाद से उनके लिए मुसीबतें खड़ी होनी शुरू हो गई हैं. बीजेपी में रहते हुए उन्होंने मैहर में 3 से 7 मई तक पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री की कथा रखी थी. अचानक से धीरेन्द्र शास्त्री ने कथा करने से इनकार कर दिया. विधायक त्रिपाठी ने बताया कि कथा के आयोजन को लेकर सारी तैयारियां पूरी हो चुकी थीं. कथा कराने का मुख्य उद्देश्य यही था कि विंध्य की धरती में आध्यात्म को बढ़ावा मिले. सुख-शांति के साथ लोगों के मन में धार्मिक भवनाएं जाग्रत हों. 

उनका कहना है कि प्रदेश के बड़े नेता नहीं चाहते कि कोई बड़ा आयोजन विंध्य की धरती पर हो. नई पार्टी बनने से भी नेता परेशान हो गए हैं. विधायक नारायण त्रिपाठी ने कहा कि बागेश्वर धाम सरकार पंडित धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री की कथा को राजनीति से जोड़ा गया है. कुछ लोगों ने महाराज श्री को भी गलत जानकारी देकर कथा को स्थगित करा दिया है.

मई में धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री की कई कथाएं
वहीं, नेताओं में पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री की कथा के लिए होड़ मची है. मई महीने में ही धीरेन्द्र शास्त्री का नक्सल प्रभावित बालाघाट के परसवाड़ा आने का कार्यक्रम सुनिश्चित हुआ है. वे 23-24 मई को कथा करेंगे. बागेश्वर धाम के आगमन की तैयारी शुरू हो गई है. विधानसभा क्षेत्र परसवाड़ा में भादूकोटा ग्राम कालेज के निकट बागेश्वर धाम की उपस्थित में धार्मिक आयोजन होगा. बताते हैं कि धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री प्रदेश सरकार में आयुष मंत्री रामकिशोर कावरे के बुलावे पर आ रहे हैं.

About The Author

By jansetu

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *