अपराधियों को नींद में याद आने वाले पांडेय हुए रिटायर

पुलिस प्रशिक्षण महाविद्यालय इंदौर से 31 जनवरी 2023 को निरिक्षक संतोष कुमार पाण्डेय सेवानिवृत हो गए। महाविद्यालय में उन्हें वरिष्ठ अधिकारियो ने भावभीनी विदाई दी जिसमे उनके चाहने वाले भी शामिल हुए। 41 वर्ष की पुलिस की सेवा में श्री पांडेय ने कई सराहनीय काम किये इस दौरान बहुत बड़ी बड़ी कार्यवाहियो को अंजाम दिया पुलिस विभाग में कई महत्वपूर्ण पदों पर रहे श्री पाण्डेय को कई बार विभाग और शासन ने सम्मानित भी किया।

धार जिले में लंबे समय तक क्राइम ब्रांच प्रभारी रहे श्री पांडेय आज भी कुख्यात अपराधियों को नींद में याद आते है। धार जिले में जब पहली बार तत्कालीन एसपी वीरेंद्र कुमार सिंह ने क्राइम ब्रांच का गठन किया तब संतोष कुमार पांडेय को प्रभारी बनाया। जब श्री पाण्डेय को प्रभारी बनाया उस समय धार जिले में जामदा भूतिया बोर डाबरा गैंग का बहुत आतंक था। यहां के अपराधी ना केवल मध्य प्रदेश में बल्कि प्रदेश के बाहर भी अन्य राज्यों में बड़ी गंभीर वारदातों को अंजाम देकर फरार हो जाते थे श्री पांडेय ने अपने मुखबिर तंत्र को सक्रिय किया और धीरे-धीरे एक-एक कर धार जिले की सभी गैंग को समाप्त कर दिया। आज धार जिले में ऐसी कोई गैंग सक्रिय नहीं है जो आम लोगों को भयभीत करती हो।

आर्म्स एक्ट के एक्सपर्ट रहे पाण्डेय

श्री पाण्डेय वैसे तो एक काबिल पुलिस अफसर रहे परंतु आर्म्स एक्ट पर इनकी विशेष महारत रही। आर्म्स एक्ट के भी कई कुख्यात अपराधियों को इन्होंने हवालात के पीछे पहुंचाया। इंदौर संभाग के धार जिले में अवैध हथियार बनाने वाले कई लोग अवैध हथियार देशभर में सप्लाई करते हैं जिनका पता लगाकर भी श्री पाण्डेय के द्वारा उनको सलाखों के पीछे पहुंचाया।

संतोष कुमार पांडेय ने अपने कार्यकाल में हमेशा चुनौतीयों को शिकार किया कभी भी चुनौतियों से मुंह नहीं फेरा इन्हीं का नतीजा रहा कि इन्हें कभी भी कभी भी असफलता नहीं मिली हमेशा सकारात्मक सोच के चलते इन्होंने कई कुख्यात बदमाशों को पकड़ने मैं सफलता हासिल की और विभाग का नाम रोशन किया। सेवा कार्य के दौरान ही बीमार हुए परंतु छुट्टी लेने के बजाय इन्होंने काम करना पसंद किया और अपनी बीमारी को हराया।

विदाई समारोह के दौरान साथी पुलिसकर्मियों और मीडिया कर्मियों के द्वारा इनके सेवा कार्य पर प्रकाश डालते हुए कहा गया कि यह जितने सख्त मिजाज पुलिस ऑफिसर रहे उतने ही नेक दिल इंसान भी है। ईमानदारी कर्तव्यनिष्ठा के साथ-साथ इतनी ईमानदारी के साथ इन्होंने अपनी नौकरी की उतनी ही ईमानदारी के साथ उन्होंने अपने सामाजिक कर्तव्यों का भी पालन किया।

श्री पाण्डेय अपने विदाई समारोह में मौजूद लोगो को सम्बोधित करते हुए भावुक हो गए उन्होंने कहा को किसी भी काम को ईमानदारी के साथ किया जाय तो वह हर हाल पूरा होता है पुलिस की नौकरी चैलेंज वाली है हर समय सिखने को मिलता है बशर्ते आप एक अच्छे विद्यार्थी की तरह इस काम को करें।

ग्लोबल इंडिया टीवी के लिए इंदौर से स्टेट हेड अमर वर्मा की रिपोर्ट

 

About The Author

By jansetu